Use our free online Tool Electric Power Consumption

Facebook

Subscribe for New Post Notifications

Arquivo do blog

Categories

Ad Home

BANNER 728X90

Labels

Random Posts

Recent Posts

Recent in Sports

Header Ads

test

Popular Posts

Pages

Business

Fashion

Business

[3,Design,post-tag]

FEATURED POSTS

Theme images by Storman. Powered by Blogger.

Featured post

पंचतंत्र कहानियाँ Hindi stories for kids panchatantra

हम लाये है आप के लिए panchtantra ki kahaniya या फिर कहे bachon ki kahaniyan in hindi इस आर्टिकल में आप को moral stories for childrens in hi...

Featured

Saturday, 28 July 2018

प्यार की कहानियां love story in Hindi

- No comments
इस पोस्ट में आप को true love story in hindi पढने को मिलेगी इसको आप अपने अंदाज़ में नाम दे सकते है जैसी की most romantic love story in hindi या फिर hindi love story in short या फिर short emotional love stories that make you cry in hindi .कुछ लोगो को  दर्द भरी कहानियो का शौक होता है जैसी की death love story in hindi या फिर sad stories about death of a boyfriend या फिर कह सकते है sad stories about death of a girlfriend in hindi.आप को इस पोस्ट में सब कुछ पढने को मिल जायेगा.

 Love Story-1 गलती हमेशा लड़के की नहीं होती 

एक लड़का था जो एक लड़की से बहुत प्यार करता था और लड़की भी उसके प्यार में पड़ चुकी थी.एक दिन  लड़के ने लड़की की दोस्त को देखा और कहा
बॉय:यार मैंने बहुत जल्दी कर दी gf बनाने में थोडा रुक जाता तो तुम्हरी दोस्त को अपनी gf बना लेता सच मे
यार तुम्हरी दोस्त बहुत हॉट है.

गर्ल:ohhhh तो जनाब जरा अपनी आंखे संभाल लो मेरी दोस्त  बहुत सीधी है और इन बातो से काफी दूर है.
हमारी दोस्ती की तरफ अपनी नजरो को मत घुमाओ वैसे भी मैंने काफी जल्दी कर दी bf चुन ने मे वरना यार
जो कॉलेज में आया नया बंदा है कसम से काफी हॉट लगता है यार.
बॉय:हॉट है तो बर्फ दाल कर उसको ठंडा कर दूंगा मेरे अलावा किसी और की तरफ तुम्हरी नज़रे गयी ना तो सोच लेना.
दोनों की लाइफ थी बहुत अच्छी चल रही थी हसी -मजाक से भरी हुई .लेकिन उन दोनों को नहीं पता था की
प्यार में दर्द भी मिलता है .एक दिन लड़की की दोस्त ने लड़के को बुलाया अपने पास और कहा- तुम मेरे साथ जो करना है करो लेकिन मेरी एक मदद करो .
Post Add-1
लड़का :तुम्हे जो भी मदद चाहयिए तुम मांगो मुझे तुम्हारे साथ कुछ नहीं करना है
लड़की की दोस्त :मेरी दोस्त ने मुझे काफी तकलीफ दी है मुझे उस से बदला लेना है उसने मेरे bf को मुझसे दूर किया है मै पूरी उम्र भर उसकी आँखों में आशु देखना चाहती हु.
लड़का:तुम पागल हो तुम्हरा bf तुम्हे धोका दे रहा था उसने तुम्हे बचाया है और तुम उसे तकलीफ देना चाहती हो.
लड़की की दोस्त:मुझे पता है वो कितना मेरा अच्छा चाहती है मै बस उसको तकलीफ देना चाहती हु तू मेरा साथ देगा
लड़का :ऐसा कभी नहीं होगा वो तुझे अपनी सब से अच्छी दोस्त मानती है तेरा बुरा नहीं सोच सकती है और तू
उसके बारे मे जो भी सोच मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है पर मै तेरा साथ कभी नहीं दूंगा प्यार करता हु उस से मै.
उसको जब तकलीफ होगी तो दर्द मुझे भी होगा
लड़की की दोस्त :ohh तो जब तकलीफ तुझे होगी तो दर्द उसको भी होगा है ना?
लड़का :है ना? का क्या मतलब है तुम्हरा?
इतना कहते ही लड़की जोर से चिल्लाने लगी और बोलने लगी- बचाओ ये मेरी इज्ज़त लूट रहा है .
लड़की ने लड़के के ऊपर इल्जाम लगा दिया की ये मेरी इज्ज़त लूट रहा है और लड़के के खिलाफ पुलिस में
शिकायत कर दी .पुलिस ने लड़के को जेल में डाल दिया.जब लड़की को ये सब पता चला तो लड़की उस लड़के से मिलने गयी और कहा.
लड़की :तुमने ऐसा क्यों किया ?
लड़का :यार तुमको लगता है मै ऐसा कर सकता हु तुम्हरी दोस्त ने मुझे फसाया है वो मेरे गलत इलज़ाम लगा रही है
लड़की :मेरी दोस्त कभी झूट नहीं बोल सकती है .मुझे तुमसे ये उम्मीद नहीं थी इतना कह कर लड़की वहा से चली गयी .

लड़का जेल में रोता रहा पर लड़के के दर्द अभी शुरू हुए थे .लड़के की फैमिली में उसकी माँ और एक बहन थी
धीरे-धीरे लड़के की फैमिली पर सब ऊँगली उठाने लगे.लड़की की दोस्त ने लोगो में ये अफवाह फैला दी की लड़के की बहन घर चलाती है और गन्दा काम करती है.हर जगह ये बात फ़ैल गयी लड़के की फैमिली को  उस सोसाइटी को छोड़ना पड़ा.लड़के की माँ की तबियत खराब हो गयी जिसका सही से इलाज ना होने की वजह से मौत हो गयी.
लड़के का सब कुछ खत्म हो चूका था वो कहता रहा है मैंने कुछ नहीं किया है लेकिन उसकी बात किसी ने  नहीं मानी .
लड़के की बहन अकेले रहने लगी एक दिन लड़की की दोस्त ने कुछ लोगो को भड़का के उसकी बहन की इज्ज़त लुटवा दी .लड़के की बहन ये सब नहीं सहन कर पाई और उसने खुद-खुशी कर ली .

जब ये बात लड़के को पता चली तो वो बुरी तरह से टूट गया और एक महीने बाद जेल से भाग निकला और उस लड़की की दोस्त के पास गया .लड़की की दोस्त उसको देख कर डर गयी .
लड़का:अब क्यों डर रही हो सब तो खत्म कर दिया तुमने लेकिन अब तू भी नहीं बचेगी मन कर रहा है तेरा बुरी
तरह रैप कर के तुझे मार दू पर मै तेरा रैप कर के अपने प्यार का ट्रस्ट नहीं तोड़ सकता पर तुझे जीने भी नहीं दूंगा और लड़का उसका खून कर देता है और अपने आप को पुलिस के हवाले कर दिया और जिस लड़की से वो प्यार करता था उसको एक मेसेज लिखा "मैंने तुम्हे कभी धोखा नहीं दिया ,तुम एक बार मुझ पे भरोसा कर के तो देखती "
दोस्तों एक बार इन्सान को मौका देना चाहयिए अपनी बात रखने का क्यों की जरुरी नहीं हर बार गलती लड़के की हो.

Love Story-2 बचपन का प्यार  

एक लड़का और एक लड़की छोटे थे दोनों साथ में स्कूल जाते थे साथ में tuition पढने जाते थे .लड़का
काफी पैसे वाला था लेकिन लड़की गरीब थी दोनों हमेशा एक साथ ही रहते थे .

एक दिन लड़के के पापा ने उसको पढाई के लिए बाहर भेज दिया.जाते वक़्त उस छोटे लड़के ने लड़की से कहा
लड़का :मै जा रहा हु तू मेरे जाने के बाद जादा चोकलेट मत खाना वरना तेरे दातं सड़ जायेंगे
लड़की :मोटू तू भी बाहर जाकर जादा खाना मत खाना नहीं तो तू और मोटा हो जायेगा
लड़का फिर पढने के लिए बाहर चला गया दोनों एक दुसरे को बहुत याद करते थे. लड़का वापस आ गया उसने शहर में आते ही लड़की से मिलना चाहा वो लड़की के घर गया लेकिन ताला लगा था .लड़के ने  अपने दोस्तों  से पूछा और उसे उसका पता मिला और सीधा उस लड़की से मिलने उसके घर गया पर उसको लड़की वहां नहीं मिली उसकी एक दोस्त ने बताया की वो लड़की डिस्को में गयी है लड़का हैरान हो गया क्यों की वो लड़की तो बचपन में इतनी अच्छी थी डिस्को में कैसे जा सकती है? उसने सोचा चलो कोई नहीं डिस्को
जाना कोई गलत बात नहीं है वो लड़की से मिलने सीधा डिस्को पहुच गया वहां पर जाते ही लड़की को देखते ही

पहचान गया और उसके पास जाकर बोला "तू बहुत cute हो गयी है यार"
लड़की :मैंने आप को पहचाना नहीं!
लड़का :अरे पगली मै हु तेरे बचपन का दोस्त
लड़की :ohh कैसा है? तू और कब आया?
लड़का :तू मुझे देख कर जादा खुश नहीं लग रही है?
लड़की :नहीं पागल खुश हु बहुत चल byee कल मिलते है मुझे  घर जाना है
लड़का :मै छोड़ देता हु घर
लड़की :नहीं मै चली जाउंगी byee
लड़की लड़के को देख कर जादा खुश नहीं लग रही थी अगले दिन लड़का उस लड़की के घर गया उस से मिलने पर लड़की घर पर नहीं मिली .लड़का वहां पे उसका इंतजार करने लगा. जब लड़की घर आई तो लड़के ने उस से बात की पर लड़की उस से ठीक से बात नहीं कर रही थी .
कुछ दिन ऐसा ही चलता रहा एक दिन लड़के ने लड़की से पूछा "यार बात क्या है तुम इतना इगनोरे क्यों करती हो मुझे? "
लड़की:अरे करती तो हु बात सारा दिन तेरे साथ थोड़ी रहूंगी
लड़का :बचपन में तो हम कितनी बात करते थे और अब ?
लड़की:यार तब हम बच्चे थे अब बड़े है तब की बात अलग थी
लड़का :यार मैं तुमसे प्यार करता हु मेरे लिए तू वही छोटी लड़की है जिस को मै बचपन में छोड कर गया था
लड़की :क्या ?पागल हो ?मै तुमको कोई प्यार नहीं करती हु और मै तुमको भूल भी चुकी थी
लड़का :ok मैं तुमको फ़ोर्स नहीं करूँगा यार क्यों की प्यार दिल से होता है

लड़का इतना बोल कर वहां से जाने लगा .लड़का काफी उदास था क्यों की लड़की को कभी भुला नहीं पाया था .
फिर उसने सोचा कोई नहीं लड़की की अपनी लाइफ है वो प्यार नहीं करती है तो कोई बात नहीं मै उसको दोस्त
जैसा मानूंगा.
लड़का जब भी उस लड़की से मिलता लड़की कभी डिस्को में होती थी ,कभी होटल पार्टी में और उलटे -सीधे
लोगो के साथ घूमना .लड़के को समझ नहीं आ रहा था की आखिर क्या हुआ ऐसा?वो इतनी कैसे बिगड़ गयी है ?
एक दिन लड़के ने लड़की को एक रूम में एक लड़के के साथ देखा उसके बिस्तर पे .अब लड़का पूरी तरह
उदास हो गया उसको बहुत बड़ा सदमा लगा था .

अगले दिन वो लड़की से मिलने गया और बोला "कल वो जो लड़का तुम्हारे साथ था वो तुम्हरा bf था ?"
लड़की:हाँ पर तुमको इस से क्या मतलब
लड़का सोचने लगा शयद वो उस से प्यार करती है और लड़की को भुलाने की कोशिस करने लगा .एक दिन वो लड़की उसको होटल में दिखी उसने पीछा किया और देखा एक आदमी के साथ वो होटल के कमरे
में गयी.
कुछ देर वो रूम के बाहर खड़ा रहा है फिर उस से सहन नहीं हुआ और उसने दरवाजे पे जोर की लात मारी
और देखा लड़की उसके साथ बिस्तर पे थी .लड़का ये देख कर  पागल हो चूका था .लड़का गुस्से में वहां से चला गया और अगले दिन उसके घर गया.
लड़का:तो ये है तुम्हरा असली चेहरा
लड़की :हाँ और अच्छा हुआ जो तुमको पता चल गया
लड़का:थोड़ी भी शर्म नहीं है तुम में ?
लड़की :भूल जाओ मुझे मै ऐसी ही हु
लड़का :भूल तो उसी वक़्त गया था जब तुझे उसके साथ देखा मेरे पापा सही कहते थे तुझ जैसी लड़की बस लोगो के बिस्तर गरम कर सकती है ,तू घर की लक्ष्मी बन ने के लायक नहीं है
इतना कह कर लड़का चला गया .वो लड़का उस से बहुत प्यार करता था और उसने लड़की को भुलाने ने लिए शाराब का सहारा लिया .बहुत दिन बाद लड़की की एक दोस्त उस लड़के से मिली
लड़की की फ्रेंड:कैसा है और कब आया ?
लड़का :कुछ हफ्ते पहले ही आया
लड़की की फ्रेंड:ये क्या हालत बना रखी है अपनी और तू अपनी पगली से मिला ?
लड़का :नाम मत लेना उसका वो मेरे क्या किसी के भी लायक नहीं है
लड़की की फ्रेंड:तुमको पूरी बात पता नहीं है,तुम्हे सिर्फ आधा सच पता है '
लड़का :आधा सच ?
लड़की की फ्रेंड::हाँ,तुम्हारे जाने के कुछ दिन बाद उसके पापा की मौत हो गयी ,घर का खर्च चलाने के लिए और उसकी पढाई के लिए उसकी माँ घरो में काम करने लगी ,लेकिन कुछ महीनो बाद उसकी माँ की तबियत हो गयी ,घर मे जितने भी पैसे थे सब उसकी इलाज में लग गये ,डॉक्टर ने उसका माँ का ऑपरेशन बताया जिसका खर्चा बहुत जादा था ,वो मदद के लिए तुम्हारे पापा के पास गयी और तुम्हारे पापा ने कहा तुम मुझ को खुश करो और उसको हवस का शिकार बनाना चाहा वो नहीं मानी अपने रिश्तेदारो के पास गयी लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की .और फिर वो तुम्हारे पापा के पास गयी और तुम्हे इस बात की खुशी होनी चाहयिए की उसके पहले ग्राहक तुम्हारे पापा थे .


लड़का ये सब सुन के बाद उस लड़की के पास गया और बोला "इतना सब कुछ हो गया और तुमने मुझे बताया नहीं "
लड़की :मै तुम्हारी लाइफ खराब नहीं करना चाहती थी ,मै अब तुम्हारे लायक नहीं हु
लड़का :लायक तो मै तुम्हारे नहीं हु ,मै तुम्हारा दर्द नहीं देख पाया
लड़की रोने लगी
लड़का :तुम वैसी ही दो जैसी पहले थी मैंने हमेशा तुम्हे  दिल से प्यार किया वो दिल अभी भी वैसा ही है i love you हमेशा मेरे साथ रहना मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है तुम क्या थी बस मुझे ये पता है की अब मेरी हो हेमशा के लिए और मेरी रहोगी .

इस तरह की और कहानियो के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे इसके लिए इस के लिये क्लिक फेसबुक पेज लाइक
इस तरह के और कहानिया

ज़िन्दगी की दिशा बदलने वाली कहानिया moral stories in Hindi

- 2 comments
इस लेख में आप को motivational stories in hindi for students और motivational story in hindi for success और short motivational stories in hindi with moral के अलावा panchatantra short stories in hindi with moral जैसी पॉइंट पे कहानिया दी गयी है .जिन्हें पढने के बाद आप एक बार जरुर सोचेंगे की "क्या मै सही दिशा में जा रहा हु ?"

कहानी-1 सोचने का नजरिया

एक गुरुकुल में बहुत सारे बच्चे पढ़ा करते थे .इनमे से 2 बच्चे में गहरी दोस्ती थी .ये दोनों ही बच्चे गुरुकुल के सब से होसियार बच्चे थे .एक दिन उस गुरुकुल में उनके गुरु दोनों को घुमाने के लिए बाहर ले के गये .
घुमते हुए वो तीनो एक खुबसूरत बाग़ में गये.वह तीनो वहां आस-पास की शोभा का आनंद लेने लगे ,तभी उन लोगो की नजर आम के एक पेड़ पर गयी ,उन्होंने देखा की वहां एक बालक डंडा लेकर आया और पेड़ के तने पर डंडा मारकर फल तोड़ने लगा .

गुरु ने अपने साथ आये दोनों बच्चो से आम के पेड़ की तरफ इशारा करते हुए पूछा -क्या तुम दोनों ने यह देखा ?दोनों बालक ने कहा -हाँ,हमने एक बालक को डंडा मारकर आम का फल तोड़ते हुए देखा.
गुरु ने एक से पूछा -तुम्हरी इसमें क्या राय है ?


पहले वाले बालक ने कहा कहा-गुरु जी मैंने देखा की कैसे उस बालक को डंडा मारकर उस फल को तोडना पड़ा?मै सोच रहा हु जब पेड़ भी बिना डंडा खाए फल नहीं देता है ,तब किसी इन्सान से कैसे काम निकाला जा सकता है  यह हमे एक बहुत ही जरुरी सत्य का आइना दिखा है की दुनिया राजी-खुशी नहीं मानने वाली है .यहाँ दबाव डालकर ही समाज या लोगो से कोई काम निकाला जा सकता है
गुरु ने अब दुसरे से पूछा-तुम्हारी इसमें क्या राय है ?
दूसरा बच्चा बोला - गुरु जी ये मुझे ये सिखा रहा है .जिस प्रकार आम का यह पेड़ डंडे खा कर भी उस बालक को मीठा आम दे रहा है,उसी प्रकार इन्सान को भी खुद दुःख सहन कर के दुसरो को हमेशा सुख देना चाहयिए,अगर कोई अपमान करे तो भी बदले में हमे उसका उपकार करना चाहयिए .यही सज्जन इन्सान का धर्म है .
यह कह कर वो वो गुरु जी का चेहरा देखने लगा .गुरु मुस्कराये और बोले -देखो बच्चो जीवन में आप का नजरिया बहुत मायने रखता है,अभी तुम्हारे सामने एक घटना घटी ,लेकिन तुम लोगो ने उसे अलग-अलग रूप में लिया ,क्यों की तुम्हारे सोचने का नजरिया अलग-अलग है.इन्सान अपने सोच के अनुसार ही काम करता है उसके अनुसार फिर फल पाता है

गुरु ने पहले बच्चे को देखते हुए कहा -तुम सब कुछ अधिकार से हासिल करना चाहते हो ,वही तुम्हारा दोस्त प्रेम से  हासिल करना चाहता है ,

हमे हर जगह दो पहलू दिखाए देंगे लेकिन हमे सकारात्मक पहलू को देखना है

कहानी-2 सन्तोष


एक व्यापारी था ,वह ट्रक में चावल के बोरे ले के जा रहा था .एक बोरा खिसक कर गिर गया .कुछ चीटिया आयी 10-20 दाने ले गयी.
कुछ चूहे आये 100-50 gm खाए और चले गये ,कुछ पंछी आये और थोडा खा कर चले गये ,कुछ गाये आयी और 2-3 किलो खा कर चली गयी .
एक मनुष्य आया और वह पूरा बोरा ही उठा ले गया .अन्य प्रणी पेट के लिए जीते है ,लेकिन मनुष्य अधिक चाह में जीता है .इसलिये उसके पास सब कुछ होते हुए भी वह सब से जादा दुखी है .आवशयकता के बाद अपनी इच्छा को रोके ,नहीं तो यह लालच में बदल जाएगी और दुःख कर कारण बनेगी हमे अपनी इच्छाओ को पूरा करना चाहयिए लेकिन जादा का इच्छा रखना मतलब चैन और शांति खोना है.

कहानी-3 लोहे और हीरे में क्या फर्क होता?

एक साधू की कथा में एक लड़की खड़ी हो गयी  और गुस्से से साधू को देखने लगी .
साधू में पूछा-क्या बात है बेटा ?

लड़की ने कहाँ-हमारे समाज में लडको को हर प्रकार की आजादी होती है .वह कुछ भी करे,कही भी जाये उस पर कोई खास टोका-टाकी नहीं होती है .इसके बिपरीत लडकियों को बात-बात पर टोका जाता है .यह मत करो ,वो मत करो,यहाँ मत जाओ ,घर जल्दी आ जाओ आदि.
साधू मुस्कुराये और बोले-बेटी तुमने कभी लोहे की दुकान के बाहर पड़े लोहे के गार्डर देखे है ?ये गार्डर सर्दी ,गर्मी ,बरसात ,रात-दिन इसी प्रकार पड़े रहते है .इसके बावजूद इनका कुछ नहीं बिगड़ता है और इनकी कीमत पर भी कोई अंतर नहीं पड़ता है .लडको के लिए कुछ इसी प्रकार की सोच है समाज में .अब तुम चलो एक सोने की दूकान पर ,एक बड़ी तिजोरी ,उसमे एक छोटी तिजोरी.उसमे रखी छोटी सी सुन्दर डिब्बी में रेशम पर नजाकत से रखा चमचमाता हीरा .क्यों की सुनार जानता है की अगर हीरे में जरा भी खरोंच आ गयी तो उसकी कोई कीमत नहीं रहेगी.समाज में बेटियों के अहमियत कुछ ऐसी ही है .पुरे घर को रोशन करती झिलमिलाती हीरे की तरह.जरा सी खरोंच से उसके और उसके परिवार के पास कुछ नहीं बचता .बस यही अंतर है लड़के और लडकियों में .
पूरी सभा में चुप्पी छा गयी सभी के आँखों में छाई नमी साफ़ -साफ़ बता रही थी लोहे और हीरे में क्या फर्क होता है.

कहानी-4 अच्छी सोच 


एक इन्सान बिना बताये एक दिन काम पे नहीं गया.मालिक ने सोचा इस की सैलेरी बड़ा दी जाये यह मन से काम करेगा.अगली बार जब उसको  सैलेरी से जादा पैसे दिये तो वह कुछ नहीं बोला चुपचाप पैसे रख लिए कुछ महीने बाद वह फिर से बिना बताये गायब हो गया

मालिक को बहुत गुस्सा आया सोचा इसकी सैलेरी बढाने का क्या फायदा हुआ ?यह नहीं सुधरेगा और उस ने
बड़ी हुई सैलेरी  कम कर दी और इस बार उसको पहले वाली सैलेरी  दी.इस बार भी वो चुपचाप रहा और कुछ नहीं बोला इस बात से उसका मालिक बहुत चौका और उसने पूछा -जब मैंने तुम्हारी गैरहाज़िर होने के बाद तुम्हरी सैलेरी  बड़ा दी तब भी तुम कुछ नहीं बोले और आज तुम्हरी सैलेरी  कम कर दी तब भी तुम कुछ नहीं बोले इसकी वजह क्या है?

उसने कहा-जब मै पहले गैर हाज़िर हुए था तब मेरे घर एक बच्चा पैदा हुआ था !! आपने मेरी सैलेरी बड़ा कर दी तो समझ गया भगवान ने उस बच्चे के पोषण का हिस्सा भेजा है और जब दुबारागैर हाज़िर हुआ तो मेरी माता जी का निधन हो गया .जब आप ने मेरी सैलेरी  कम कर दी तो मैंने यह मान लिया की मेरी माँ अपने हिस्से का अपने साथ ले गयी फिर इस सैलेरी की खातिर क्यों परेशान हु जिस का ज़िम्मा भगवान ने खुद लिया हुआ है

कहानी-5 घमंड

एक वैध था .वह अपने साथ एक आदमी को रखता था .एक दिन वे गाँव से रवाना हुए तो किसी बात को लेकर उन्होंने उस आदमी की डाट लगायी -अरे तू जानता नहीं है? पहले तू कैसा था ?तू तो गधा था .मैंने तेरे को गधे से इन्सान बनाया !मैंने तेरा इतना उपकार किया ,फिर भी तू मेरी बात मानता नहीं !पास में ही एक गधेवाला जा रहा था .

उसने वैध की बात सुन ली की यह गधे से इन्सान बनाता है .वह वैध  के पास गया और बोला -महाराज !मेरे पास बहुत सारे गधे है,पर आपको 2 गधे देता हु ,मेहेरबानी कर के इनको आप इन्सान बना दो
वैध बोला-हाँ बना देंगे ,पर उसका रूपया लगेगा  भाई! एक गधे का 100 रूपया लगेगा
गधे वाले ने कहा -ठीक है ,मै आपको अभी पूरा रूपया दे देता हु ,आप इनको इन्सान बना दो बस  उसने वैध को 2 गधे दिये और चला गया .
वैध ने दोनों गधे बाजार में जाकर बेच दिये.गधे वाले ने  जब आकर पूछा तो वैध बोला -अभी तुम्हारे गधे इन्सान बन रहे है .उन पर मसाला चढ़ा दिया है .
ऐसा करते -करते 3-4 महीने हो गए .अब जब गधे वाला आया तब वैध ने कहा- अरे यार तू आया नहीं तेरे गधे तो कब के इन्सान बन गये और उनकी नौकरी भी लग गयी !जिस गधे के जादा बाल थे,वह तो मौलवी बन गया और स्कूल में बच्चो को पढाता है और दूसरा गधा स्टेशन मास्टर बन गया है .मैंने दोनों को ठीक तरह से इन्सान बना दिया है ,लेकिन तू देरी से आया,इसलिये मसाला जादा चढ़ गया और वो नौकरी में लग गये .अब तू जाने भाई!


गधे वाला घास लेकर स्कूल गया .वैध ने जिसका नाम बताया था ,उस दाढ़ी वाले मौलवी के सामने जाकर वह खड़ा हो गया और घास दिखाते हुए कहने लगा -"आ जा ,आ जा! घास ले ले ,ले ले !"
वह मौलवी चिल्लाया-"अरे !यह कौन है ?क्या करता है ?पागल हो गया है क्या ?"
गधे वाला बोला-मैंने 100 रुपय खर्च किये है तुझे गधे से इन्सान बनाने में ,मै पागल कैसे हो गया ?
मौलवी ने उसे पागल कहते हुए बाहर निकाल दिया अब वह स्टेशन मास्टर के पास गया और उसको घास दिखा कर कहने लगा-"आ जा ,आ जा,ले ले ,ले ले "
स्टेशन मास्टर-अरे ये क्या करता है ?
लोगो ने बताया की यह पाठशाला में भी गया था और मौलवी को भी ऐसा ही कह रहा था .स्टेशन मास्टर ने भी उसको पागल समझ कर वहा से भगा दिया
अब वो गधे वाला वापस वैध के पास आया और बोला -वो दोनों तो मेरे को पागल कहते है !
वैध बोला-अरे भाई ,मैंने पहले ही कहा था की तू देरी से आया ,इसलिये उन पर मसाला जादा चढ़ गया !अधिक मसाला चड़ने से अब वो कब्जे में नहीं रहे !अब मै क्या करू ?
इसी तरह इन्सान घमंड कर लेता है की मै बड़ा समझदार हु ,बड़ा जानकार हु ,तुम्हारे को वर्षो तक पढ़ा सकता हु .उस पर मसाला जादा चढ़ गया है,जब इन्सान में मसाला जादा चढ़ जादा है तो वह अपने अभिमान में किसी की बात नहीं मानता है और दूसरी सीख ये है की गधे वाले की तरह हमे आंख बंद कर के किसी पे भरोसा नहीं करना चाहयिए  .

कहानी-6 ईष्या

ये काफी समय पहले की बात है एक गाँव में ईष्या करने वाला एक किसान रहता था .वो बहुत गरीब था ,अपनी जीविका के लिए उसके पास एक बहुत छोटा सा खेत था.
उस खेत में कुछ अनाज व सब्जिया उगाकर वह अपना व परिवार का पालन -पोषण करता था .इस से बड़ी मुश्किल से ही उसका गुजर -बसर हो पाता था .गरीबी के कारण उसके पास धन की हमेशा कमी बनी रहती थी
अपने ईष्यालू स्वभाव के कारण उसकी अपने पड़ोसियों और रिश्तेदारो से भी बिलकुल नहीं बनती थी .समय के
साथ किसान की उम्र बढने लगी .अब उस से मेहनत का काम नहीं हो पाता था .उसे खेत पर काम करने में भी काफी मुश्किल आती थी .

उसके पास बैल नहीं होने की वजह से खेत भी उसे खुद ही जोतने पड़ते थे .सिंचाई के लिए वर्षा पर निर्भर रहना पड़ता था .क्यों की खेत में या आस -पास कोई कुआ या तालाब नहीं था ,जिस से वह अपने खेत की सिंचाई कर सके .एक दिन जब वह अपने खेत से थका हारा घर लौट रहा था तो रास्ते में उसकी मुलाकात एक बुजुर्ग बाबा से हुई.
वह बाबा उस किसान से बोले-क्या बात है भाई  बहुत दुखी जान पड़ते हो ?
किसान ने अपनी दुःख भरी दास्तान बाबा को सुनने शरू कर दी ,किसान बोला -क्या बताऊ बाबा ,मै बहतु गरीब हु ,छोटे से खेत के सहारे बड़ी मुश्किल से अपना व परिवार का पेट पाल रहा हु .बुदापे की वजह से खेत में बराबर मेहनत नहीं कर पा रहा हु.मेरे पास धन की कमी है जिसकी वजह से मै एक बैल भी नहीं खरीद सकता हु .मेरे पास एक बैल होता तो भी मै अपने खेत की जुताई,बुवाई और सिंचाई का सारा काम आराम से कर लेता .

बाबा ने उस से पूछा-अगर तुम्हे बैल मिल जाये तो क्या तुम्हरी समस्या का समाधान हो जायेगा ?
किसान ने कहा-तब तो मेरी खेती का सारा काम बहुत आसानी से हो जायेगा .मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहेगा !
किसान ने आगे कहा-पर बाबा मुझे बैल कहा से मिलेगा ?
बुजुर्ग ने कहा-मै आज ही तुम्हे एक बैल देता हु,सामने खड़े एक बैल की तरफ इशारा करते हुए
उन्होंने कहा-जाओ यह बैल घर ले जाओ पर घर जाकर तुम अपने पडोसी को मेरे पास भेज देना
किसान को कुछ अजीब सा लगा पर वह बोला-आप मुझे बैल दे देंगे ,यह जानकर मुझे बहुत खुशी हुई लेकिन
आप मेरे पडोसी से क्यों मिलना चाहते है ?.
बुजुर्ग ने कहा -क्यों की मै उसे दो बैल देना चाहता हु ,इसलिये जाओ और अपने पडोसी से बोलना की मेरे पास आकार दो बैल ले जाये .
यह सुनते ही किसान का ईष्यालू स्वभाव अन्दर से जाग उठा और अन्दर ही अन्दर गुस्सा होने लगा .वह ईष्या के कारण अन्दर ही अन्दर जल-भुन रहा था .
वह बोला -बाबा !यह कैसा गजब है! आप नहीं जानते मेरे पडोसी के
पास पहले से ही सब कुछ है .फिर उसे और 2 बैल देने की क्या जरुरुत है .यदि मुझे एक  बैल देने के कारण आप उसे 2 बैल देना चाहते है तो मुझे एक बैल भी नहीं चाहयिए
बुर्जुग ने बैल को अपनी और खीचा और कहा -क्या तुम जानते हो की तुम्हारी समस्या का कारण क्या है ?
तुम्हरी समस्या का कारण गरीबी नहीं ईष्या है .तुम्हे जो मिल रहा है ,यदि तुम उतने में ही खुस हो जाते और पड़ोसियों व रिश्तेदारो की सुख-सुविधा से ईष्या नहीं करते तो शायद संसार में सब से जादा सुखी इन्सान बन जाते .

कहानी-6 वोट

एक नेता वोट मांगने के लिए एक बुढे के आदमी के पास गया और उनको 1000 रुपये का नोट दे कहा-बाबा जी
,इस बार वोट मुझे दे. 
बुजुर्ग ने कहा-मुझे पैसे नहीं चाहयिए ,वोट चाहयिए तो एक गधा खरीद के ला दो
नेता गधा खोजने निकला .मगर कही भी 8000 से कम कीमत पर कोई गधा नहीं मिला .वापस आकर बाबा जी से बोला-सही कीमत पर कोई गधा नहीं मिला.कम से कम 8000 का एक गधा है

बाबा जी ने कहा-वोट मांग कर शर्मिंदा ना करो ,तुम्हारी नज़र में मेरी कीमत गधे से भी कम है ,जब गधा
8000 में नहीं बिक रहा है.मै तो इन्सान हु 1000 में कैसे बिक सकता हु ?
जागों वोटर्स जागो और अपने वोट की कीमत पहचानो.

आप ऐसे ही और कहानियो के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते थे इसके लिए इस लिंक पे क्लिक करे फेसबुक पेज लाइक

इस तरह की और कहानिया पढ़े

वर्ल्ड की बेस्ट कहानियां stories in Hindi

- No comments
story in hindi इस लेख का प्रमुख टॉपिक है जिसमे आप को panchatantra kahaniya और hindi short stories with moral के साथ ही funny story hindi moral और very short stories with morals in hindi जैसी टॉपिक पे भी कहानी दी गयी है.इसमें आप को panchatantra stories in hindi with moral values पर भी कहानी दिया गया है  जो आप को पढने के बाद कुछ ना कुछ सीख दे के जाएँगी.

कहानी-1 इन्सान का लालच

रमेश अपना और अपने परिवार का पेट पालने के लिए  मेहनत-मजदूरी करता था एक दिन वो मजदूरी करने के
लिए बाज़ार में बैठा था तभी उसे एक बूढ़े इन्सान ने आवाज़ लगायी और कहा "मुझे इस नगर की सीमा तक जाना है मेरे पास 3 पोटली है अगर उनमे से अगर एक तुम उठा लो तो बहुत अच्छा होगा ".

रमेश ने सब से भारी वाली पोटली उठा ली जो सच में बहुत भारी थी .
रमेश बोला-ये तो बहुत भारी है
बूढा बोला-तुम्हे मजदूरी में एक सोने का सिक्का दूंगा
रमेश तैयार हो गया चलते -चलते  रमेश ने पूछा-बाबा इसमें क्या है? जो इतना भारी है 
बूढ़े ने कहा -इसमें  पीतल  के सिक्के है लेकिन तुम इसे लेकर भाग मत जाना तुम्हे तुम्हारी मजदूरी मिल जाएगी"
रमेश-कैसी बात करते हो बाबा आप परेशान ना हो 
कुछ देर चलने के बाद एक नदी आयी अब उस नदी को पार करना था तभी उस बुढे इन्सान ने कहा-देखो
भाई मुझसे 2 पोटली ले के नदी पार नहीं हो सकती है इसलिये इसमें से एक पोटली तुम ले लो इसमें  चाँदी के सिक्के है ले के भाग मत जाना 
रमेश-मुझे सिर्फ अपनी मजदूरी से मतलब है बाबा इसमें कुछ भी हो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है
नदी पार करने के बाद उन्हें एक पहाड़ मिला तब उस आदमी ने कहा-भाई ये पोटली ले के मुझसे पहाड़ नहीं चड़ा जायेगा.इस पोटली को भी तुम्हे लेना पड़ेगा लेकिन इसमें सोने के सिक्के है मै मजदूरी में तुम्हे एक सिक्का और दे दूंगा .


रमेश पोटली ले के आगे चलने लगा और जल्दी ही उसने पहाड़ पार कर लिया लेकिन जब उसने पीछे मुड कर देखा तो वो बूढा कही नहीं दिखा तब रमेश ने सोचा शायद वो पीछे छूट गया है और वो उसका इंतजार करने लगा .
तभी उसके दिमाग में आया क्यों ना ये 3 पोटली ले के गायब हो जाऊ कौन -सा बूढा उसे पहचानता है. उसने देखा अब उसे बूढा दिख रहा है बहुत दूर से वो चला आ रहा था धीरे-धीरे.
रमेश तीनो पोटली ले के  गायब हो गया जब  घर पहुच कर रमेश ने वो पोटली खोली तो देखा उसमे पत्थर भरा था ,एक पोटली में उसे एक कागज का टुकड़ा मिला जिस पे लिखा था-मै इस देश कर राजा हु और अपने खजाने के देख -भाल के लिए एक इमानदार इन्सान की तलाश में था  लेकिन तुम इस परीक्षा में पास नहीं हुए .
ये पढ़ कर रमेश ने अपना सर पकड़ लिया .
सीख-लालच इन्सान का विवेक छीन लेता है और उसे भले बुरे का फर्क नहीं दिखता है .इसलिये लालच ना करे

कहानी-2 आखिरी ज्ञान


गुरुकुल में पढ़ रहे बच्चो को आज बहुत खुशी हो रही थी वो 12 साल पढने के बाद अपने घर लौट रहे थे .
गुरु जी भी अपने शिष्यों के शिक्षा से खुस थे और अपने शिष्यों  को आखिरी उपदेश देने की तैयारी कर रहे थे .
उन्होंने कह- सभी एक जगह आ जाये मुझे आप सब को आखिरी उपदेश देना है 
गुरु जी की बात सुन कर सब एक जगह इकट्टे हो गये.गुरु जी ने अपने हाथ पे लकड़ी के कुछ खिलोने लिए हुए थे उन्होंने उन खिलोनो को दिखाते हुए कहा -इन्हें ध्यान से देखो और बताओ इनमे क्या अन्तर है ?
सभी शिष्य बड़े ध्यान से उन्हें देखने लगे वो सोच रहे थे की ये तो तीनो लकड़ी के बने हुए है और एक जैसे है भला इनमे क्या अंतर है .तभी एक ने कहा -ये देखो इनमे से एक के कान में छेद है
 ये संकेत काफी था उन्होंने  जल्दी ही पता लगा लिया और कहा-गुरु जी इनमे सिर्फ इतना अंतर है की एक के दोनों कान में छेद है ,दुसरे के एक कान में छेद है और मुँह में छेद है और तीसरे के सिर्फ एक कान में छेद है. 

गुरु जी ने कहा -बिलकुल सही

अब गुरु जी ने उन्हें एक पतला तार दिया और कहा गुड्डे के कान में डालो ,शिष्यों ने वैसा ही किया और तार एक कान से होते हुए दुसरे कान से निकल गया .दुसरे गुड्डे के कान से होते हुए मुँह से निकल गया और तीसरे गुड्डे के कान में घुसा और कही से नहीं निकला.
तब गुरु जी ने-इन तीनो गुड्डो की तरह ही आप के जीवन में तीन तरह के इन्सान आएंगे पहले गुड्डे की तरह आप को कई इन्सान ऐसे मिलेंगे जो आप की परेशानी एक कान से सुनकर दुसरे कान से निकाल देंगे ऐसे इन्सान से कभी भी अपनी परेशानी ना बताये,दूसरा गुड्डा ऐसे लोगो को दर्शाता है जो आप की बात सुनते है और दुसरो से जा के बोलते है ऐसे लोगो से दूर रहे और कभी-भी ऐसे लोगो को अपनी परेशानी ना बताये,तीसरा गुड्डा ऐसे लोगो दर्शाता है जिनपे आप भरोसा कर सकते है जिनको आप कुछ भी बता सकते है यही लोग आप की ताकत है इसलिये ऐसे लोगो को कभी भी अपने से दूर ना करे .

कहानी-3 बुरी आदत


एक सेठ अपने लड़के के बुरे आदत से बहुत परेशान था वो जब भी उसको समझाता वो कहता -मै तो अभी छोटा हु धीरे-धीरे  ये आदत छोड़ दूंगा. 

लेकिन वो कभी भी अपनी आदत छोड़ने के कोशिस नहीं करता.उन्ही दिनों एक साधू उस गाँव में आये हुए थे जब उस सेठ ने उनके बारे में सुना तो उनके पास गया और अपनी सारी दिक्कत उनको बतायी.साधू ने उनकी बात सुनी और कहा-आप अपने बेटे कल बगीचे में ले के आये मै वही आप को उपाय बताऊंगा .
अगले दिन सेठ अपने बेटे को लेकर साधू के पास गया .साधू में उस लड़के से कहा -आओ हम बगीचे में घुमते है.
वो धीरे -धीरे  घूमने लगे .चलते-चलते उस साधू ने कहा -क्या तुम एक छोटे से पैधो को उखाड़ सकते हो ?
लड़के ने कहा-हाँ इसमें कौन सी बड़ी बात है  और उसने आसानी से एक पैधा उखाड़ दिया फिर वो आगे बड गये.
साधू ने एक बड़े पौधे की तरफ इशारा करते हुए कहा-क्या तुम इसे उखाड़ सकते हो ?
लड़का तुरंत उस पेड़ को उखाड़ने लगा इस बार उसको काफी मेहनत करनी पड़ी तब जा के उस से उखड़ पाया .
वो फिर आगे बड गये अब साधू ने उसको एक गुडहल का पेड़ दिखाया और उसे उखाड़ने को बोला लड़के ने तना पकड़ा और जोर -जोर से खीचने लगा लेकिन वो उखाड़ नहीं पाया .जब बहुत कोशिस करने के बाद भी  वो उसे उखाड़ नहीं पाया तब उसने कहा -ये तो बहुत मजबूत है इसे उखाड़ना संभव नहीं है
तब साधू ने उसे प्यार से समझाते हुए कहा बेटा-ठीक ऐसा ही बुरी आदतों के साथ भी होता है जब वो नई होती है तब उन्हें छोड़ना आसान होता है लेकिन जब वो पुरानी हो जाती है तब उन्हें छोड़ना उतना ही मुश्किल हो जाता है "
लड़का उनकी बात समझ गया और उसने बुरी आदत छोड़ने का अपने आप से वादा किया .

कहानी-4 हार ना माने

बहुत समय पहले की बात है एक गाँव में एक किसान रहता था उसके पास बहुत सारे जानवर थे उनमे एक गधा भी था .
एक दिन गधा घास खाते-खाते एक कुए के पास पहुच गया और उसमे गिर गया .गिरते ही वो चिल्लाने लगा .
उसकी आवाज़ सुन कर खेत में काम कर रहे लोग वहा पहुच गये और सब ने किसान को बुलाया .
उसे गधे पे दया तो आयी लेकिन उसने सोचा इस बुढे गधे को बचाने का कोई फायदा नहीं है और इसमें मेहनत भी बहुत करनी पड़ेगी .

फिर उसने बाकी लोगो से कहा -मुझे नहीं लगता हम इस गधे को यहाँ से निकाल सकते है इसलिये आप सब अपना काम करे टाइम बर्बाद करने से कुछ नहीं होगा  और ऐसा कह कर वो आगे बढ़ने वाला ही था की एक मजदूर बोला -मालिक इस गधे ने सालो तक आप की सेवा की है इसलिये इसको इस तरह तड़प-तड़प कर मरने के लिए छोड़ने से अच्छा है की हम इसको यही दफना दे  "
किसान ने कहा -हाँ सही कहते हो चलो इसमें मिटटी डालो और इसको यही दफ़न कर दो

गधा ये सब सुन रहा था उसे लगा मेरे मालिक मुझे बचाने की जगह मुझे मारने की कोशिस कर रहे है .ये सब सुन कर वो डर गया लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी और भगवान को याद कर के वहा से निकलने की कोशिस करने लगा .
अभी वो सोच ही रहा था की तभी उसके ऊपर मिटटी की बारिश होने लगी गधे ने मन ही मन सोचा भले ही चाहे कुछ भी हो लेकिन वो अपनी कोशिस नहीं छोड़ेगाऔर वो पूरी तरह से तैयार हो कर उछाल लगाने लगा .गधे के ऊपर जब भी मिटटी पड़ती वो उछल कर उसे गिरा देता और खुद उसके ऊपर खड़ा हो जाता.किसान ने ये सब देखा और सोचा की अगर वो ऐसे ही मिटटी डलवाता रहा तो इसकी जान बच जाएगी और धीरे-धीरे ऐसे ही कर -कर के गधा कुए के ऊपर आ गया .
हमारी ज़िन्दगी भी ऐसे ही होती है हम चाहे जितनी कोशिस करे लेकिन कभी ना कभी मुसीबत रूपी गड्ढे में गिर ही जाते है .लेकिन गिरना कोई बड़ी बात नहीं है बड़ी बात है उस मुसीबत से निकलना.बहुत सारे लोग बिना कोशिस के ही हार मान जाते है और जो लोग मेहनत करते है तो भगवान भी उसका साथ देते है .


कहानी-5 आत्म सम्मान

एक भिखारी रेलवे स्टेशन पे पेन ले के बैठा हुआ था तभी एक इन्सान आया और उसने उसके कटोरे में 50 रुपए डाल दिये लेकिन कोई पेन नहीं लिया .
                                              
डिब्बे का दरवाजा बंद होने ही वाला था की वो इन्सान ट्रेन से उतरा और भिखारी के पास गया और कुछ पेन उठा के बोला -मै कुछ पेन लूँगा इन पेन की कीमत है आखिर कार तुम एक व्यापारी हो और मै भी  
उसके बाद वो युवा तेज़ी से ट्रेन में चढ़ गया .कुछ सालो बाद वो युवा एक पार्टी में गया वहां पे वो भिखारी भी था .
वो भिखारी उस युवा के पास गया और बोला -शायद आप मुझे नहीं पहचान रहे है लेकिन मै आप को पहचानता हु  और उसने उस दिन की बात याद दिलायी.
तब युवा ने कहा -हाँ मुझे याद आ गया तुम भीख मांग रहे थे लेकिन तुम यहाँ पे सूट और टाई में क्या कर रहे हो ?
तब उस भिखारी ने कहा-आप को शायद मालूम नहीं है आप ने मेरे लिए उस दिन क्या किया ,मेरे ऊपर दया करने की बजाये आप मेरे साथ सम्मान से पेश आये आप ने कटोरे से पेन उठा के कहा इनकी कीमत है ,तुम एक व्यापारी हो और मै भी,आप के जाने के बाद मैंने बहुत सोचा मै क्या कर रहा हु? ,मै भीख क्यों मांग रहा हु? ,मैंने अपना बैग उठाया और पेन बेचने लगा घूम-घूम कर ,धीरे -धीरे मेरा व्यापार बहुत अच्छा होने लगा,मैंने फिर कॉपी,किताब भी बेचना शुरु कर दिया और आज इस शहर का सब से बड़ाथोक विक्रेता हु ,मुझे मेरा सम्मान आप की वजह से मिला ,मै आप को बहुत ही धन्यवाद देता हु 


आप अपने बारे में क्या सोचते है ?खुद के लिए आप क्या राय ज़ाहिर करते है ,क्या आप अपने आप को ठीक तरह से समझ पाते है इन सारी चीजों को ही हम आत्म सम्मान कहते है ,दुसरे लोग हमारे बारे में क्या कहते है ये बातें उतना मायने नहीं रखती है .

कहानी-5 चोर और साधू

एक साधू का भगवान पे बहुत भरोसा था. जो भी उन के घर में एक बार आ जाता वो उनके आदर और अथिति भावना से खुश हो जाता था .

उनके मन में लोगो के लिए बहुत जादा प्रेम था इसलिये लोग उनकी बहुत इज्ज़त करते थे और उनसे प्रेम भी करते थे .
एक दिन जेल से भागा हुआ चोर पुलिस से बचने के लिए इधर-उधर भाग रहा था तभी उसने देखा साधू के घर का दरवाजा खुला हुआ है और साधू के घर में घुस गया .
साधू ने उसे देखते ही कहा -तुम्हरा इस घर में स्वागत है मेरे भाई लेकिन पहले तुम ये बताओ तुम कौन हो ?और यहाँ क्या करने आये हो?
तब चोर ने कहा -महाराज मै एक मुसाफिर हु और रास्ता भटक गया हु इसलिये इधर -उधर भटक रहा था आप का दरवाजा खुला देख कर मै यहाँ पे आ गया ,क्या मुझे एक रात के लिए आप शरण दे सकते है? मै सुबह होते ही चला जाऊंगा 
साधू ने कहा-हाँ क्यों नहीं तुम यहाँ आराम से रह सकते हो ,मुझे लगता है तुम बहुत थक गये हो ,जा कर मुँह-हाथ धो लो  मै तुम्हारे खाने -पीने का इंतजाम करता हु 

इस पर चोर अपने हाथ -पैर धोने के लिए चला गया और साधू ने उसके खाने -पीने और सोने का इंतजाम कर दिया .
साधू ने उसका बहुत अच्छे से ध्यान रखा और उसको सोने के लिए बहुत अच्छा बिस्तर दिया .रात में सभी के सो जाने के बाद चोर के मन में चोरी की इच्छा ज़ाहिर हुई और साधू के घर से सोने के 2 दीपदान चुरा के भाग गया .पुलिस उसको खोज रही थी इसलिये वो पकड़ा गया और उसने सब कुछ सही बता दिया और बोला -मैंने ये दीपदान साधू के घर से चुराए है 
इस पर उसे सब साधू के घर ले के गये .साधू ने कहा -कृपा आप इन्हें छोड़ दे ये मेरे घर में मेहमान बन कर आये थे और ये दीपदान मैंने इन्हें उपहार में दिये है 
इतना सुनते ही चोर की ज्ञान इंद्री खुल गयी और उसे अपनी भूल का एहसास हो गया था .उसने माफ़ी मांगी और कभी भी चोरी ना करने का कसम खाया

आप ऐसे ही और कहानियो के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते थे इसके लिए इस लिंक पे क्लिक करे फेसबुक पेज लाइक

इस तरह की और कहानिया पढ़े

Tuesday, 24 July 2018

डेंगू ले सकता है जान dengue ke lakshan

- No comments

डेंगू से हो जाय सावधान क्यूंकि ये खतरनाक है अगर आप डेंगू से बचना चाहते है तो आप dengue fever in hindi और dengue symptoms in hindi से जाने कैसे डेंगू से सावधान रहना है और dengue bukhar ka ilaj hindi या dengu ka upchar या फिर dengue ayurvedic treatment in hindi इस पोस्ट की मदद से आप डेंगू का सही तरीके से उचार कर सकते है और खुद को डेंगू से बचा सकते है इसके आलावा dengue in hindi language या dengue ke lakshan hindi me भी जान सकते है अगर डेंगू बुखार का अच्छे से treatment न किया जाय तो ये जान भी ले सकता है इसलिए इस post में हम आपको डेंगू से related बहुत सारी जानकरी आपको देना चाहते है जिससे आप स्वस्थ रहे मस्त रहे.

डेंगू

आजकल डेंगू एक जानलेवा बीमारी बनती जा रही है जिससे हर साल दुनिया में लगभग 10करोड़ लोगो को डेंगू होता है भारत में लाखों लोग देंगुर से मर जाते है  डेंगू संक्रामक रोग है जो मच्छरों के काटने से होता है डेंगू वायरस से फैलने वाली बीमारी है डेंगू के चार प्रकार के वायरस पाय जाते है जिनमे से अगर एक प्रकार का वायरस से रोगी ग्रस्त होता है तो वह ठेक भी हो सकता है और मरीज उस वायरस से लम्बे तक उसे प्रतिरोधक क्षमता भी मिल जाती है और फिर उस प्रकार के वायरस से ग्रस्त नहीं होता है लेकिन जो डेंगू के बाकि वायरस होते है वो खरतनाक और गंभीर होते है अगर एक बार भी इन वायरस की वजह से डेंगू का बुखार हो जाता है और ठीक होने पर जब दूसरी बार यही वायरस attack करता है तो ये काफी गंभीर हो सकता है तो ऐसी condition में आपको बहुत सावधान रखनी है डेंगू का बुखार होने पर काफी मुश्किल हो जाता है.


कैसे होता है डेंगू बुखार :-


  • डेंगू का नाम होता है Aedes aegypti
डेंगू fever छूने से, हवा, पानी या साथ खाने से नहीं होता है कई लोग मरीज के साथ  अछूत जैसा व्यवहार करने लगते है जो की बहुत गलत है डेंगू fever छूने से, हवा से , पानी से या साथ खाने नहीं फैलता है ये फैलता है एक मादा मच्छर aedes aegypt के द्वारा जब मादा मच्छर किसी infected व्यक्ति को काट लेती है और फिर उसके बाद ये किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटती है तो उसको वो वायरस उस स्वस्थ व्यक्ति के खून में चला जाता है transferहो जाता है और ऐसी स्थति में स्वस्थ व्यक्ति भी डेंगू के वायरस से पीड़ित हो जाता है.
डेंगू fever बहुत खतरनाक होता है क्यूंकि जो हमारे शरीर में खून होता है उसमे जो platelets count बहुत down हो जाता है और इतना down हो जाता है की कई बार व्यक्ति की मौत हो जाती है.


डेंगू के मच्छर दिन में जादा active होते है और जो रात में आपको मच्छर काटते है तो वो जरुरी नहीं के वो डेंगू के मच्छर हो  लेकिन अगर आपके घर में या आपके घर के आस-पास दिन में मच्छर नज़र आते है तो समझ लीजिये की खतरा ज्यादा है क्यूंकि डेंगू के मच्छर दिन में ज्यादा active होते है और इन मच्छरों के शरीर पर चीते जैसी सफ़ेद रंग की धारियां होती है और डेंगू का मच्छर ज्यादा उंचाई तक नहीं उड़ पाता है 6-7 फीट की उंचाई तक ही उड़ता है इसलिए ये और बी ज्यादा खतरनाक है क्यूंकि ये आपके आस-पास ही रहता है. ठन्डे और छाँव वाले जगहों पर ये मच्छर रह पसंद करते है परदे या अँधेरी वाली जगहों पर ये मच्छर ज्यादा पाय जाते है घर में रखे हुए. जहाँ पे ये  मच्छर जन्म लेते है वही से २०० मीटर के दायरे में ये मच्छर उड़ते है साफ़ पानी में ही मच्छर होते है गंदे पानी में नहीं होते और पानी के सूख जाने के बाद भी इनके अंडे 12 महीने तक जीवित रहते है.


डेंगू के लक्ष्ण :-


  • मांसपेशियों और हड्डियों में दर्द होता है.
  • तेज ठण्ड का लगना 
  • तेज सर दर्द होना
  • आँखों में दर्द होना
  • बदन दर्द
  • तेज बुखार 
  • शरीर में कमजोरी और rashes होना
  • अचानक बदन में दर्द होना या फिर जोड़ो में अचानक दर्द महसूस करना  


  • भूक कम लगना 
  • मसूड़ों से खून आना 
  • जी मचलना 
  • उलटी ही जाना 
  •  दस्त लगना 
  • चमड़ी के नीचे लाल चकते हो जाना 
  • डेंगू की खतरनाक condition होने पर आँख या नाक में से खून निकल सकता है.

डेंगू के उपचार  :-


  • अपने घर में कपूर और लोभन की धुप करते है तो मच्छर घर में फ़ैल नहीं पाते है.
  • daily आपको तुलसी का सेवन करना है.
  • नीम की पत्ती का सेवन करें.
  • ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करें.
  • डेंगू fever में plates lates बढाने के लिए पपीते के पेड़ के पत्ते ये पत्ते न तो ज्यादा नए होने चाहिए और ना ही बहुत ज्यादा पुराने होने चाहिए और इसका रस आपको या तो लकड़ी की ओखली में निकालें या स्टील के बर्तन में और जब इसका रस निकल जाय इसको कांच की शीशी में भर लें.

Adult :- 10 ml दिन में दो बार देना है.
चाइल्ड है 5-12 साल का है तो 2.5 ml दिन में 2 बार देना है



  • पपीते में पाय जाने वाले enzymes खून को जमने नहीं देते लीवर की कार्य क्षमता बढ़ाते है और साथ ही platelets  को भी तेजी से बढ़ाते है जिससे डेंगू का बुखार जल्द ही ठीक हो जाता है.
  • बकरी का दूध पचाने में आसान होता है लीवर पर ज्यादा दवाब नहीं डालता और immunity(रोग प्रतिरोधक क्षमता) को बढाता है.
  • 20-30 ml Aloe-Vera का रस सुबह और शाम पीना है.
  • ये आपके लीवर को मजबूत करेगा और डेंगू को बहुत ही जल्द ठीक कर देगा.
  • ग्लोय में 6-7 तुलसी की पत्ती मिलकर के उसका रस निकाल लेना है और इस रस को दिन में 2 बार इसको लेना है इससे डेंगू बहुत जल्द ठीक हो जायगा 
  • दिन में 3-4 बार ताजे अनार का juice पीना चाहिए इसे पीने से रोगी के शरीर में खून बनता है और रोगी की रोग से लड़ने की क्षमता बढती है.
  • नारियल पानी का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें 
  • रोगी को सेब का रस पिलायं या सेब खिलायं इससे ताकत उत्पान्न होती है और रोग प्रति रोधक क्षमता बढती जिससे रोगी अपने आपको डेंगू से लड़ने के लिए खुद को तयार कर पाता है 

सावधानियां :- 



  • घर पर की भी बर्तन जिसमे पानी भरा हो उसे खुल्ला मत छोड़िये
  • अपने डॉ. से सलाह ले.
  • daily platelets काउंट की जांच करवाईये क्यूंकि डेंगू मरीज की platelets तेजी से कम होने लगती है 
  • जहा ज्यादा मच्छर हो वह ना जायं.
  • बुखार या सर दर्द होने पर भूलकर भी paracetamol या brufen और aspirin का उपयोग ना कीजिये.
  • daily कूलर का पानी change करते रहे और इस पानी को ऐसी जगह फेंक दे जहा पानी रुकता ना हो और कोशिश करें की आपके आस-पास गड्ढ़ों में, गमलों में या बगीचे में  पानी जमा ना हो.
  • डेंगू के मच्छर हमेशा साफ़ पानी में अंडे देते है.
  • अगर आपके घर के पास कहीं पानी जमा हो तो जलता oil दाल दें kerosene oil  दाल दें.
  • अपने शरीर पर नीम का तेल मल कर सोयें .
दोस्तों हमारा लक्ष्य सिर्फ और सिर्फ रोग मुक्त भारत बनाना है हम चाहते है की अधिक से अधिक लोगो तक हेल्थ की जानकारी पहुचे 
इसके लिए आप हमारा सहयोग करे,खुद पढ़े और दुसरो को पढाये.आप हमारे फेसबुक पेज को भी लाइक कर सकते है इसके लिए इस लिंक पे क्लिक करे फेसबुक पेज
या फिर अगर आप फ़ोन से ये जानकारी पढ़ रहे है तो सब से निचे फेसबुक लाइक करने का बटन है अगर आप कंप्यूटर से पढ़ रहे है तो साइड मे आप को फेसबुक लाइक 
का बटन दिख जायेगा.


Saturday, 21 July 2018

मलेरिया जड़ से मिटाएं malaria treatment

- No comments
मलेरिया को जड़ से मीटाने के लिए malaria fever और causes of malaria से आप जान सकते है की मलेरिया क्या है? और इससे कैसे बचें और इसके अलावा जाने maleriya ke lakshan और malaria bukhar ka ilaj या फिर home remedies for malaria और malaria in hindi यहाँ पे आप बहुत कुछ जान सकते है की कैसे आपको मलेरिया से बचना है क्या खाना है क्या करना है सब कुछ इस post को read करें और स्वस्थ रहें.


malaria

अगर हमारी सेहत सही है तो हमारे बड़े से बड़े काम आसानी से हो जाते है लेकिन  कभी-कभी हमारे शरीर में होने वाली छोटी-छोटी बीमारियाँ बड़ा रूप लेकर हमारे काम में रुकावट पैदा करती है हमारी जरा सी लापरवाही हमारे और  हमारे परिवार में मुसीबत बन जाती है और आजकल हम सभी के लिए सबसे बड़ी मुसीबत बन चुके है  मच्छर.
मच्छरों के काटने से कई प्रकार की बीमारियाँ देखने को मिल रहीं है जिनमे से कई तो जान लेवा भी साबित हो सकती है ऐसी ही एक बीमारी है मलेरिया जो की बहुत खतनाक है.

मलेरिया क्यूँ होता है? : -

मलेरिया एक प्रकार का parasite है जो मच्छर के द्वारा transmit होता है (plasmodium parasite होता है) मच्छर के अन्दर जब आ जाता है तो मच्छर जिस भी व्यक्ति को काटेगा तो उसके blood में ये चला जता है और blood में जाने के बाद direct लीवर में जाता है ओ जब-तक इसकी मात्रा नहीं बढती तब-तक इसके लक्ष्ण body में नहीं दिखेंगे लेकिन जब इसकी मात्रा cross हो जाती है तब मलेरिया के लक्ष्ण दिखना start हो जाते है.


मलेरिया के लक्ष्ण :-

मलेरिया में क्या खाएं क्या ना खाएं :-
बरसात के मौसम में जब घरों के आस-पास ......... छत्त पर पड़े टूटे बर्तन या कूलर आदि में पानी भरा सड़ने लगता है तब उस पानी में मच्छर अंडे दे देते है इसमें से पैदा हुए मच्छरों में से एक मादा  Anopheles मच्छर के काटने से मलेरिया होता है मादा  Anopheles जब किसी व्यक्ति को काटता है तो वह अपने रक्त को पतला करने के लिए अपने मुह से विशैले द्रव को छोड़ता है उस द्रव में मलेरिया को पैदा करने वाले जीवाणु होते है इन जीवाणुओं के विश के फैलने से बुखार होता है मलेरिया का मच्छर दिन और रात दोनों समय ही काटता है मलेरिया से बचने के लिए दिन में भी सावधानी बरतनी चाहिए और बच्चों के साथ-साथ खुद भी फुल कपड़े पहने.

  • मलेरिया होने पर starting में सर्दी का बहुत एहसास होता है और कभी-कभी तो मलेरिया रोगी को इतनी सर्दी लगती है की उसको कम्बल या रजाई की भी जरुरत पड़ जाती है और उससे भी सर्दी कम नहीं होती इससे रोगी को बहुत तेज बुखार हो जाता है और उसे खूब पसीना भी आता है जहर कम होने पर रोगी अपने आप को निरोग महसूस करता है लेकिन अगले दिन फिर उसे सर्दी लगने लगती है और फिर से तेज बुखार आ जाता है.
  • कंपकपी के साथ तेज बुखार आना.
  • शरीर में दर्द, मिचली आना, उल्टियां होना 
  • भूक ना लगना 
  • शरीर टूटना 
  • तेज बुखार होना 

मलेरिया में क्या खाएं :-

  • तुलसी के पत्ते, दाल-चीनी, अदरक और काली मिर्च की चाय पिएं.
  • कॉफ़ी या दूध भी पी सकते है.
  • सेब का भी सेवन करना चाहिए इससे रोगी को बहुत फायदा होता है.
  • पीपल के चूर्ण को शहद में मिलाकर खाने से रोगी को फ़ायदा मिलता है.
  • खिचड़ी का सेवन करें यह बहुते फायदेमंद होता है रोगी के लिए ये पोष्टिक भी है और आसानी से पच भी जाती है.
  • मलेरिया रोगी को साबूदाना और दलिया खाना चाहिए.
  • निम्बू vitamin C से भरपूर होता है निम्बू को काटकर उसमें सेंधा नमक और कालीमिर्च मिर्च मिलाकर निम्बू को चूसें इससे आपके मुह का स्वाद भी change होगा और भूक भी बढती है.
  • पानी में तुलसी की पत्ती और काली मिर्च उबालकर देनी चाहिए क्यूंकि ये दोनों संक्रमण को रोकने में help करते है.
  • अमरुद में काफी तरह के पोष्टिक तत्व होते है जो हमारी सेहत के लिए लाभकारी होते है.    


क्या ना खाएं :-

  • ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए और ना ही ठन्डे पानी से नहाना चाहिए.
  • आम, अच्चार, लीची, संतरा आदि का सेवन करना चाहिए.
  • मलेरिया में ठंडी तासीर वाली वस्तुओं का सेवन नहीं करना चाहिए.
  • दही, शिकंजी, गाजर, मूली आदि का सेवन नहीं करना चाहिए.
  • मिर्च-मसाले, junk-food से दूरी बनाकर रखना चाहिए.

मलेरिया के नुस्खे :-

आधा प्याज का टुकड़ा 
काली मिर्च 
  • आधा प्याज का टुकड़ा लेकर उसके रस में 1 चुटकी कालीमिर्च का powder मिलाकर सुबह-शाम में पीने से मलेरिया के बुखार में आराम मिलता है.
10 ग्राम सेंधा नमक
40 ग्राम देसी चीनी(बूरा)
  • इन दोनों को पीस के रोजाना आधा चम्मच 3 बार गर्म पानी के साथ लेने से मलेरिया बुखार आना बंद हो जाता है.    


आधा चम्मच पीसी कलौंजी 
1 चम्मच शहद 
  • 1 चम्मच शहद में आधा चम्मच कलौंजी मिलाकर चाटने से चौथे दिन आने वाला बुखार ठीक हो जाता है.
20 ग्राम शुद्ध शहद
आधा ग्राम सेंधा नमक
आधा ग्राम हल्दी
  • इन तीनो को पीस कर गर्म पानी में डालकर रात को पानी से लें बुखार और जुखाम ठीक हो जाता है.
1 चम्मच जीरा
गुड़
  • 1 चम्मच जीरा पीस के गुड़ में मिला दें इसकी 3 खुराक बनाकर बुखार चढ़ने से पहले सुबह-दोपहर और शाम को पानी से मलेरिया का बुखार नहीं होता है.
  • मलेरिया बुखार में हरी दूब के रस में अतीस के चूर्ण को मिलाकर दिन 2-3 बार चाटने से मलेरिया बुखार में लाभ मिलता है.
  • फूली हुई फिटकारी का powder बना लें कितनी भी फिटकरी आप ले सकते है और जितनी आपने फिटकरी ली है उसकी चार गुना चीनी लेनी है और इन दोनों का powder बना के अच्छी तरह mix कर लेना है और 2 ग्राम गुनगुने पानी से 2-2 घंटे बाद 3 बार लेना है यानिकी 6 घंटे में आपक 3 खुराख लेनी है.     



  • जो महिला pregnant है उनको ये दवाई ना दें .
  • तुलसी की पत्तियां और काली-मिर्च दोनों को मिलाकर खाएं.
  • जब-तक आपका बुखार न जाय तब तक आपको तुलसी की पत्तियां चबानी चाहिए इससे मलेरिया तो दूर होता ही है साथ ही जो पुराना बुखार होता है तो वो भी दूर होता है .
  • महासुदर्शन चूर्ण का सेवन सुबह-शाम करें 
  • तुलसी के पत्तों का रस शहद में मिलाकर लें 
  • 10 ग्राम चिरायता एक glass पानी में उबालकर थोडा-थोडा करके पीएं.
  • फिटकरी को भूनकर 1/4 चम्मच आधा cup पानी में घोलकर दिन में 2-3 बार पीएं.   

  सावधानियां :-   



  • अपने आस-पास साफ़-सफाई रखें.
  • घर में धुप-अगरबत्ती जलाएं, हवं-पूजन करें.
  • घर में तुलसी का पौधा लगाएं.
  • नीम के 5-6 पत्ते सुबह खाली पेट खाएं 
  • मच्छर भगाने के लिए नीम के पत्तों का धुंआ करें .    
दोस्तों हमारा लक्ष्य सिर्फ और सिर्फ रोग मुक्त भारत बनाना है हम चाहते है की अधिक से अधिक लोगो तक हेल्थ की जानकारी पहुचे 
इसके लिए आप हमारा सहयोग करे,खुद पढ़े और दुसरो को पढाये.आप हमारे फेसबुक पेज को भी लाइक कर सकते है इसके लिए इस लिंक पे क्लिक करे फेसबुक पेज
या फिर अगर आप फ़ोन से ये जानकारी पढ़ रहे है तो सब से निचे फेसबुक लाइक करने का बटन है अगर आप कंप्यूटर से पढ़ रहे है तो साइड मे आप को फेसबुक लाइक 
का बटन दिख जायेगा.

Thursday, 19 July 2018

कमजोर आँख वाले जरुर देखे home remedies to improve eyesight

- No comments
अगर आपकी आँख week हो गई है तो how to increase eyesight in hindi और eye care tips या फिर eye tips in hindi से जान सकते है और आप यह भी जान सकते है मि कैसे exercise से अपनी आँखों की रौशनी को बड़ा सकते है yoga for eyes in Hindi और eye diseases and treatment in hindi इसके अलावा how to increase eyesight home remedies in hindi और tips for healthy eyes in hindi या फिर eye treatment in ayurveda in hindi और eye care tips in hindi से बहुत कुछ जान सकते है की कैसे आप अपनी eye sight को बड़ा सकते है आपको क्या करना है? क्या नहीं? इस post के द्वारा अपने दिमाग में चल रहे सावालो के जवाब पा सकते है.



eye sight :-

हर इंसान को कुदरत की दी हुई सबसे नायाब और खूबसूरत देन है यानिकी अगर आँखे ना हो तो हमारी दुनिया अँधेरी है लेकिन कंप्यूटर पर जादा देर तक काम करके ज्यादा देर तक टीवी देख कर या ज्यादा  मोबाइल use करने और खान-पान में लापरवाही बरतकर हम अपनी आँखों को ही खराब कर देते है जिसका नतीजा ये होता है की हम अपनी आँखों से जुडी कई समस्याओं के शीकर हो जाते है पहले तो उम्र बदने के साथ आँखों की परेशानिया होती थी लेकिन आजकल छोटे-छोटे बच्चो को भी नजर का चश्मा लगा हुआ है उनकी eye sight week होने रही है तो अब परेशान मत होइए क्यूंकि कुछ घरेलु नुश्खे अपनाकर आप इस समस्या से निजात पा सकते है बस थोड़ी से मेहनत करने की जरुरत है.

आँखों की रौशनी कम्जूर क्यूँ हो जाती है?-
कारण :-


  • eye care की कमी.
  • जादा कंप्यूटर, टीवी, मोबाइल, लैपटॉप use करना.
  • nutrition की कमी
  • पित्त बढने से भी नजर कमजोर होती है.
  • old age, infection या चोट लगना.
  • diabetes या कोई और बीमारियाँ से भी eye sight week हो सकती है 
  • लगातार radiation में रहने से आँखे खराब हो जातो है.
  • जादा धुप में रहने के कारण eye sight week हो जाती है.
  • बिना पालक झपकाए एक टक देखते रहना.
  • week eye sight की वजह आँखों की exercise ना करना भी है.
  • ज्यादा junk food खाने के कारण भी आँखे कमजोर हो जाती है.
  • digestion ठीक ना रहना भी आँख कमजोर कर सकता है.


लक्ष्ण:-

इन लक्षणों से जाने की आपकी eye sight week होंने  लगी है. 

  • आँखों में जलन या खुजली होना.
  • तेज लाइट से आँखों में चुभन होना.
  • रात में कम दिखाई देना.
  • किसी भी चीज़ को देखने में परेशान होना.
  • धुंधला दिखाई देना.
  • मोतियाबिंद होना.
  • एक चीज़ डबल दिखाई देना 
  • आँखों में redness और पानी आना.
  • आँखों का dry होना और म्यूकस(कचरा) आना  

नुस्खे:-

आँखों पर से चश्मा हटाने के लिए बाहरी और अंदरूनी दोनों तरफ से इलाज करना जरुरी है.
बादाम तेल
अखरोट तेल 

  • बराबर मात्रा में मिलकर हलके हांथो से आँखों की रोज मालिश करें मालिश आपको आँखों को बंद करके आँखों के चारो तरफ circular motion में massage करें और 5-7 min. के बाद आँखों के ऊपर खीरा रख कर 10 min. तक rest करें. खीरे किन जगह कपड़े का भी इस्तेमाल कर सकते है.
  • आँखों में massage करने से पहले आँखों में गुलाबजल डालने से बहुत जादा असर करता है.
  • सुबह उठकर आँखों को धोएं 
  • धनिया powder पानी में उबाल लें पानी ठंडा होने पर उससे आँखें धोएं     



  • आँखों की eye sight अच्छी रखने के लिए बहुत जरुरी है के आपने आँखों को ठंडा रखे जब पित्र की वृधि होती है तो आँखों की eye sight ख़राब होती है.
  • आँखों में ठंडे पानी से छींटे मारे.
  • आँखों में गुलाब जल डालें.
  • आँखों को सुबह त्रिफला पानी से धोए.
  • रात को सोने से पहले 1 चम्मच त्रिफला चूर्ण खाएं.
  • vitamin A लें पालक, गाजर और सेब खाएं.

50 ग्राम बादाम
50 ग्राम सोफ़
10 ग्राम सफ़ेद मिर्च 

  • इन तीनो का mix करके चूर्ण बना ले और 1 चम्मच दूध के साथ सुबह-शाम ले.
  • आँखों में पानी के छींटे मारे.
  • आँखों पर खीरे का slice काटकर रखें.
  • आँखों में गुलाबजल डालें.
  • त्रिफला के पानी से आँखों को धोएं.

1 चम्मच त्रिफला 1 glass गरम पानी में रात को भीओ के रख दे और सुबह उस पानी को छान कर पानी धोएं.
2-3 चम्मच धनिये का powder को 1 जग पानी में डाल-कर 5 min. तक उबाल लें फिर इस पानी को ठंडा करके आँखों को धोएं और अगर आप चाहे तो दिन में 2-4 बार इस पानी से आंखो को धो सकते है.
1 जग पानी में 2-3 चम्मच आंवले का powder डालकर रात भर रख दें फिर सुबह इसे छान कर इस पानी से अपनी आँखों को धोएं.




  • जब आपन face wash करने जाय तो पहले आपको अपने मुह के अन्दर ज्यादा से ज्यादा पानी भर लेना है और उसके बाद अपनी आँखें धो लेना है ऐसा करने से आँखों की माश्पेशियाँ फैलती  है और आँखों की सारी अशुद्धियाँ अच्छे से साफ़ हो जाती है.

गाय का घी :- गाय का घी गरम करें और रोजाना सोने से पहले कान के पीछे अच्छी तरह से मालिश करें यह हमारी आँखों की नसों को मग्बूत करने में मदद करता है और साथ ही साथ आँखों से जुड़े सभी तरह की problem दूर हो जाती है और आँखों की रौशनी तेज हो जाती है.
मुह की लार :- वैसे तो लार के अन्दर पानी ही होता है लेकिन इसके आलावा इसमें white blood cells और anti bacterial properties पाए जाती है जो की किसी घाव  और घाव के निशान को मिटाने में सबसे असरदार ठीक उसी प्रकार जिस प्रकार कोई भी जानवर चाट कर ही ठीक कर  देता है सुबह सुबह मुह में बनने वाली लार का महत्व सबसे ज्यादा होता है और यही सबसे ज्यादा effectiveभी होती  है.

  • सुबह सुबह उठकर अपने मुह की लार अपनी पालो पर लगाएं ठेक उसी तरह जैसे काजल लगाते है ऐसा रोजाना करने से आँखों पर लगा चश्मा तेजी से उतर जाता है और हमारी आँखों में मौजूद सभी प्रकार की बीमारियाँ ठीक होने लग जाती है.
  • मुह की लार इतनी ज्यादा effective होती है की conjunctive eyes का इन्फेक्शन तो दो दिन में ही खत्म कर देती है.
  • इसके अलावा अगर आँखे भेंगी या तीरची है तो मुह के लार का इस्तेमाल करने से वो भी ठीक हो जाती है.
  • इसलिए मुह की लार अगर आप रोजाना इस्तेमाल करते है तो मोटे से मोटा चश्मा भी उतर जाता है .    


सफ़ेद मिर्च 
सोंफ
मिश्री
बादाम 


  • आधा चम्मच सफ़ेद मिर्च के powder में 1 चम्मच मिश्री का powder और एक चम्मच बादाम के powder को मिलकर इसका चूर्ण का तयार कर लें और फिर रोजाना  इस 1 चम्मच चूर्ण को खाकर उसके उपर दूध पिएँ आँखों से related सभी problem के लिए ये सबसे असरदार नुस्खा है.

क्या करे:-

  • तांबे के बर्तन 6-7 घंटे रखा हुआ पानी पिएँ इससे आँखों को बहुत फायदा होता है इसलिए रात में भर कर रख दें और सुबह इस ताम्बे का पानी पिएँ.
  • पालक और गाजर का juice इसमें vitamin A, vitamin C पाया जाता है जो हमारी आँखों की नसों के  लिए भुत गुणकारी होता है जादातर आँखों की problem vitamin की कमी से ही होती है और पालक और गाजर का juice हमारे शरीरे में vitamin की कमी को बहुत तेजी से को पूरा करता है और इसे समय के साथ-साथ आँखों की रौशनी बढती है.
  • आंवले का juice या आंवले का चूर्ण रोज सुबह शाम लेने से आँखों की रौशनी बढती है.
  • हमारी आँखों के पीछे 5 muscles का pair होता है जिसे हमे शक्तिशाली बनाकर रखना बहुत जरुरी है और जब ये मुस्क्ल्स कमजोर होती है तब हमारी आँखों की रौशनी भी कमजोर होने लगती है.   



इन चीजो को नहीं लेना है ये पित्त वर्धक चीज़े है 


  • चाय-कॉफ़ी मिर्च-मसाले, अचार और खटाई ना खाएं.

परहेज -


  • धुप, धुल और प्रदुषण से आँखों को बचाएं.
  • diet में गर्म चीज़ें खाने से परहेज करें.
  • हमेशा पलकों को झपकाते रहें.
  • पेट को साफ़ रखे.   



exercise  :-


  • palming - अपने दोनों हथेली को रगड़े और जब वो गरम हो जाय तो दोनोब हाथो का cup बना के अपनी आँखों पे रखे इससे गर्मी पोंचेगी तो blood circulation बढेगा.
  • eye ball rotation:- अपनी आँखों को ऊपर,निचे,दांय,बायं, rotation anti clock wise rotation की वजह से आंखो की muscles strong होती है.
  • अपनी आँखों को जोर से 3 sec.के लिए बंद करके रखे और वापस से 3 sec.के लिए खोले ऐसा 10 बार करने से हमारी आँखों को आराम मिलता है और आँखों का blood circulation तेज होता है.

आँखों को स्वस्थ रखने के eye tips:-


  • आँखों की ठीक से देखभाल करें.
  • आँखों को रोज धोएं.
  • समय- समय पर नेत्रबस्ती करे.

सावधानियां :-


  • computer पर काम करते समय plain glass लगाएं.
  • समय समय पर आँखों की check-up कराते रहें.
  • प्रदुषण से बचें.
  • तेज धुप से बचने के लिए धुप वाला चश्मा लगाएं.
  • chemicals से आँखों को बचाएं.
  • टीवी से पास बैठकर टीवी ना देखें.
  • computer पर काम करते समय या फिर टीवी देखते समय पलक झपकते रहना चाहिए.


दोस्तों हमारा लक्ष्य सिर्फ और सिर्फ रोग मुक्त भारत बनाना है हम चाहते है की अधिक से अधिक लोगो तक हेल्थ की जानकारी पहुचे 
इसके लिए आप हमारा सहयोग करे,खुद पढ़े और दुसरो को पढाये.आप हमारे फेसबुक पेज को भी लाइक कर सकते है इसके लिए इस लिंक पे क्लिक करे फेसबुक पेज
या फिर अगर आप फ़ोन से ये जानकारी पढ़ रहे है तो सब से निचे फेसबुक लाइक करने का बटन है अगर आप कंप्यूटर से पढ़ रहे है तो साइड मे आप को फेसबुक लाइक 
का बटन दिख जायेगा.


Monday, 16 July 2018

इन टिप्स को अपनाय और गोरी त्वचा पाय beauty tips in hindi

- No comments

अगर आप अपने face को और भी खूबसूरत बनाना चाहते है तो face tips in hindi और homemade beauty tips in hindi या healthy skin tips in hindi इन tips को follow करके आप अपनी skin को और भी healthy बना सकते है और साथ ही साथ face glow tips in hindi और face pack in hindi या फिर facial at home in hindi से जान सकते है और अगर आप चाहते है की घर पर ही अपनी ब्यूटी को कैसे और निखारे तो आप home beauty tips in hindi से जान सकते है इस post को read करे और चमकती त्वचा पाय.

beauty tips:-

आजकल जब face ब्यूटी की बात अति है तो चाहे लड़का हो या लड़की सभी को साफ़ और सुन्दर त्वचा चाहिए इसके लिए लोग महंगी cream, lotion का use करते है लेकिन skin beautiful skin care से बनती है मतलब की आप जितनी त्वचा की care करेंगे उतनी ही आपकी त्वचा निखरेगी तरोताजा लगेगी  आप cleansing, toning और moisturizing करेंगे तो आपको skin की जो quality है वो अलग से ही दिखेगी क्यूंकि आपकी skin को भी cleansing, toning और moisturizing की जरुरत है जैसे आपके body को जरुरत है आप body को अन्दर से जितना clean करेंगे उतनी ही आपकी skin clean रहेगी पर सिर्फ यही काफी नहीं है आपकी skin को ऊपर से भी clean करना बहुत जरुरी होता है.


टिप्स:-

Normal skin के लिए :- सबसे पहले अपनी skin को clean करना बहुत जरुरी है चाहे आप जब सोने जा रहे हो या कही से late भी आय है तो भी skin को clean करना बहुत जरुरी है.
आपको लेना है थोडा-सा Vaseline और उससे आपको अपने face पे massage करना है और tissue से साफ़ कर लेना है.
Dry skin के लिए :- आपको लेना है नारियल का तेल और उससे करनी है आपको अपने चेहरे की massage.
Oily skin के लिए :- आपको लेना है Aloe-Vera gel और अच्छे से massage करना है फिर साफ़ कर लेना है.

scrubbing :-

स्क्रुबिंग हमारी skin के लिए बहुत जादा important है.

  • तो स्क्रुबिंग के लिए हमे लेना है थोडा-सा honey और उसमे add करेंगे sugar इन दोनों को अच्छे से mix करके अपने face पे करेंगे massage और ये scrub dry और oily skin दोनों के लिए बहुत अच्छा है और ये skin को ना तो oily करता है और dry skin को moisturize कर देता है स्क्रुबिंग करने के बाद आप face wash कर ले.
  • अगर आप make-up करने के बाद इस scrub को नहीं कर पा रहे है तो आप सुबह भी कर सकते है.
  • हफ्ते में 2 बार तो जरुर करना है 
  • स्क्रुबिंग करने के बाद skin को ऐसे ही नहीं छोड़ देना है क्यूंकि scrub करने के बाद हमारे skin के जो pores है वो open हो जाते है तो scrubbing के बाद हमे अपनी skin पे apply  करना होगा face pack  ये हमारे  skin में जो dirt, white heads और black heads होते है सब clean हो जाते है.

face pack:- 


  • हमे लेना है बेसन और उसमे add करना  है थोडा-सा हल्दी और पानी डाल के अच्छे से mix कर लेना है और पानी आपको उतना ही डालना है की pack जो है वो गाड़ा रहे और फिर इस paste को massage करते हुए अपने face पर लगाना है और उसके बाद एक thick layer लगानी है ऐसे करने से face pack है वो अन्दर तक जाता है और अच्छे से work करता है फिर इसे सूखने तक छोड़ दे और सूखने के बाद face wash कर ले.
  • इससे आपके face पे glow आयगा.
  • आप चाहे तो पानी की जगह दही से भी mix कर सकते है वो भी lightning ageing है और वो tan भी हटायगा.

moisturizing :-


  • moisturizing बहुत ही important है आपके skin की quality, color आधे से जादा आपके face का लुक moisturizing की वहज से आता है.
  • इसके लिए आपको थोडा-सा लेना है Aloe-Vera gel और अपने face पर लगा लेना है.

ब्यूटी टिप्स:-

सुन्दर दिखने के लिए जरुरी नहीं के आप पार्लर जाय या महंगे products use करे चेहरे की ख़ूबसूरती के लिए बहुत जरुरी है की आप अपनी skin का ख्याल रखे.

चन्दन और हल्दी scrub :-

  • 3 चम्मच चन्दन powder
  • चुटकी-भर हल्दी
  • 2 चम्मच दूध
  • सबसे पहले एक bowl में 3 बड़े चम्मच चन्दन powder डाले और add करे चुटकी भर हल्दी और अब इसमें 2 चम्मच दूध मिलाकर गाड़ा paste ready कर लेने के बाद अपने पूरे face पे apply करना है और सूख जाने पर अच्छे से पानी से wash कर लेना है इस pack से face पे natural glow आता है.
  • एक चम्मच शहद और एक चम्मच निम्बू का रस एक bowl में डाल दे और अच्छे से mix करने के बाद अपने face पे apply करे ले ये आपके face के मुर्झाए चेहरे को निखारता है और नइ चमकती त्वचा देगा.
  • त्वचा की मर्त पोषिका को निकलने के लिए एक bowl में एक चम्मच चीनी और आधा चम्मच निम्बू का रस आप चाहे तो इस mixture को पीस भी सकते है और चाहे तो इस mixture को अपने face पे apply कर सकते है इसको आपने हलके हाथो से अपने face पे 5-10 min. scrub करना है  इस scrub से आपकी tanning और जो भी dead skin है उसको remove करता है.    



  • एक चम्मच baking सोडा और 2 चम्मच शुद्ध नारियल तेल इन दोंनो को अच्छे से mix करके paste ready कर ले और अपने face पे apply कर ले 5-10 min. तक आपको face massage करना होगा और उसके बाद normal water से face wash कर लेना है.
  • इस scrub से आपके face के रोम छिद्र खोल कर उनकी सफाई करेगा और नारियल तेल त्वचा को मुलायम करेगा और याद रहे ये scrub आपको frequently नहीं करना है मतलब लगातार आपको इसका use नहीं करना है.


बेसन दमकती और साफ़ त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद है.



  • एक चमच बेसन, एक चम्मच दूध और एक चम्मच शहद इन तीनो को अच्छे mix करके गाड़ा paste त्यार कर ले और अपने पूरे face पे apply करे 15-20 min. तक इसे लगा रहने दे उसके बाद पानी से धुल ले.

  • 7 ग्राम इमली को ढाई-सौ ग्राम मि.ली. पानी में रात भर फूलने दे सुबह इमली को पीस कर लेप बना ले इस लेप को अच्छे  से हलके हाथ से शरीर पर लगा ले 10-15 min. के लिए लगा के छोड़ दे उसके बाद नाहा ले इस लेप से धुप की वजह से जो tan हो जाता है जिनका रंग सांवला हो जाता है उनका रंग गोरा होने लगता है और त्वचा के जो दुसरे रोग है जैसे :- झानियाँ पड़ना, कील-मुहासे, दाग-धब्बे आदि दूर हो जाते है. इस लेप को गर्मियों के मौसम में सप्ताह में 2 बार कर सकते है.     



  • 3 चम्मच सूजी powder और 3 चम्मच दूध के साथ इस paste को अपने चेहरे पर हलके हाथो से scrub करे और सूखने दे इसके बाद गर्म पानी से धो ले ऐसा करने से त्वचा के रोम छिद्र खुल जाते है और त्वचा के अन्दर हवा आसानी से पास होने लगती है.
  • सूखे आंवला powder में 2 चम्मच दही मिलाकर गाड़ा paste ready करे इसके बाद अपने face पे apply करे और सूखने के बाद लेप को मसलकर छुड़ा दे और गरम पानी में towel भिगो के अपने चेहरे को सेंके इसके कुछ दिनों के प्रयोग से झाइयाँ और कील-मुहासे दूर होकर आपका चेहरा साफ़ चमकदार हो जायगा.
  • 1 बड़े आंवले के मुरब्बे का daily 2-3 बार दिन सेवन करे इसके सेवन से तवचा रंग निखरता है.

कील-मुहासों के दाग :-

एक bowl में 1 चम्मच नमक ले और 1 चम्मच निम्बू के रस को मिला दे अच्छे से mix करने के बाद अपने face पे हलके हाथो से scrub करे.

  • अगर आप दमकती, स्वस्थ और निखरी तवचा चाहते है तो इस scrub से exfoliate करे हर हफ्ते हमारे चेहरे पर एक नइ त्वचा आती है तो इसे exfoliate करने पर नइ आइ हुई त्वचा आसानी से सांस ले पायगी.
  • रोजाना त्वचा को exfoliate करने से त्वचा की कई समस्या जैसे black heads, acne आदि से मुक्ति पा सकते है.     



  • 1 टमाटर को दो हिस्सों में काट ले और इसके एक हिस्से को अपने चेरे पर लगाय और ऐसा दिन में दो बार करे इस क्रिया से tan की problem दूर होती है और त्वचा में निखार आता है.
  • टमाटर का juice निकाल कर उसमे चीनी add करे और इसे अच्छे से mix करले उसके बाद अपने चेहरे पर scrub करे और हफ्ते में इस विधि को दो बार करने से चेहरे पे अलग ही निखार आता है और तेजी से बढती हुई उम्र की प्रक्रिया को भी रोकता है 


दोस्तों हमारा लक्ष्य सिर्फ और सिर्फ रोग मुक्त भारत बनाना है हम चाहते है की अधिक से अधिक लोगो तक हेल्थ की जानकारी पहुचे 
इसके लिए आप हमारा सहयोग करे,खुद पढ़े और दुसरो को पढाये.आप हमारे फेसबुक पेज को भी लाइक कर सकते है इसके लिए इस लिंक पे क्लिक करे फेसबुक पेज
या फिर अगर आप फ़ोन से ये जानकारी पढ़ रहे है तो सब से निचे फेसबुक लाइक करने का बटन है अगर आप कंप्यूटर से पढ़ रहे है तो साइड मे आप को फेसबुक लाइक 
का बटन दिख जायेगा.